सेक्सटिंग क्या है और ये गलत क्यों नहीं है?

What is Sexting

क्या आपने लोगो को खुले (नग्न) फ़ोटो, वीडियो, सन्देश या अन्य चीज़ों को फ़ोन या ई-मेल पर ऑनलाइन शेयर करते देखा है? ये वो चीज़ है जिसे आजकल की पीढ़ी सेक्सटिंग कहती है। स्मार्टफोन, जिसने टेक्नोलॉजी और मीडिया को लोगो की पहुँच तक आसान बना दिया है, सेक्सटिंग का मुख्य कारण है।

ये वो क्रिया है जिसमे 4 में से 1 किशोर लगा हुआ है और बहुत बड़ी संख्या में वयस्क भी इसका आनंद ले रहे हैं। कभी-कभी ये रिश्तों को स्वस्थ और रोमांटिक बनाने में सहायक होता है या इसकी जरूरत से ज्यादा सनक रिश्तों को बर्बाद भी कर सकती है और उन्हें अप्रिय बना सकती है। आइये हम आपको कुछ ऐसे परिदृश्य दिखाते हैं जहाँ सेक्सटिंग आनंददायक और सहायक होती है –

सेक्सटिंग आनंददायक और सहायक होती है

  1. एक जोड़ा जो अपने रिश्तों के उतार-चढाव का सामना कर रहा है या जो रिश्तों के बुरे दौर से गुज़र रहा है, वो अपने पहले वाले रोमांस को पाने के लिए सेक्सटिंग का सहारा ले सकता है और अपने अंदर की गर्मी को बाहर आने से पहले इसका आनंद ले सकता है।
  2. एक जोड़ा जिसने अपने रिश्ते की अभी शुरुआत की है और भौतिक रिश्तों की अंतरंगता में प्रवेश करना चाहता है और वो नहीं जानते कि उनके साथी के साथ उनका अंतरंग रिश्ता कैसा होगा, वो एक दूसरे को अपनी सेक्सी फ़ोटो भेजकर अपने जोश को बढ़ा सकते हैं और वो अपनी अंतरंगता को अगले स्तर तक ले जा सकते हैं।
  3. लंबी दूरियों के रिश्ते भी इंटरनेट पर अंतरंग चीज़ों को शेयर करके संभाले जा सकते हैं।
  4. यदि आप अपने रिश्ते के प्रति प्रतिबद्ध हैं तो अपने साथी को सेक्सट भेजना अच्छी चीज़ है जिससे वो पूरे दिन के काम के बाद रात होने की प्रतीक्षा करेंगे और कुछ मजेदार चीज़ों को करने के लिए तैयार रहेंगे।

सेक्सटिंग किसी भी प्रकार से गलत नहीं है

सेक्सटिंग किसी भी प्रकार से गलत नहीं है जब तक ये सीमित सीमा के अंदर और न बदलने वाले साथियो के बीच हो। ये आपकी सेक्सुअली खुली तस्वीरों की निजता को बनाये रखता है और इन्हें गलत हाथो में नहीं जाने देता। किशोरों को सेक्सटिंग करते हुए बहुत सावधान रहने की आवश्यकता है और अगर वो छोटे हैं तो उन पर व्यक्तिगत फ़ोटो और वीडियो को शेयर करने का कोई दबाव नहीं होना चाहिए। प्रत्येक वयस्क को ये अधिकार है कि क्या वो किसी को सेक्सट काटना चाहते हैं या नहीं। और उन्हें अपने इस अधिकार का प्रयोग करने की पूरी स्वतंत्रता है।

प्रत्येक परिस्थिति में सावधानी और इसे प्राप्त करने वाले की मर्जी जरूरी है। अगर ये किसी बिगड़ी हुई मानसिकता के आदमी के हाथ लग जाए जो आसानी से पहुँच वाली पोर्न और तस्वीर उपलब्ध कराने वाली एप्लीकेशन में पारंगत है, तो इस मीडिया का गलत इस्तेमाल हो सकता है और वो इसका दुरुपयोग कर सकते हैं। जब रिश्तों में कड़वाहट आने लगती है या गलतफहमी पैदा हो जाती है और बदले की भावना कृत्यों में बदलने लगती है तो वो आपकी व्यक्तिगत चीजों को गलत तरीके से दूसरे लोगो से शेयर करने लगते हैं जिससे आपकी बदनामी हो। और वो आपकी तस्वीरों और वीडियो को इंटरनेट पर सार्वजनिक करके ब्लैकमेल भी कर सकते हैं। ऐसा तब होता है जब ये मीडिया गलत हाथो में पड़ जाता है, और ये एक या दोनों साथियो को शर्मिंदा कर सकता है।

व्यक्तिगत रूप से किसी को भी सेक्सट भेजने में स्वतंत्र महसूस करना चाहिए क्योंकि सेक्सट करने में कोई बुराई नहीं है, पर अपने साथी पर विश्वास होना बहुत जरूरी है। हालांकि सेक्सटिंग को पिछले कुछ सालों में बुरी ख़बरों के रूप में देखा गया है, इसलिए इसे करते समय थोड़ी सावधानी रखनी चाहिए।

Tags:

This post is also available in: English

0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

© 2015-2016 An initiative by Web Empire

Log in with your credentials

Forgot your details?