विचित्र चीज़ें जो लड़कियाँ अपने बालोँ के साथ करती हैं

Weird Things Girls do With Their Hair

शार्ट-हेयर, पिक्सी-कट, बॉब-कट, स्पाइकड स्टाइल, हाफ-शेव हेड, टैटू स्कैल्प जैसी चीज़ें आजकल चलन में हैं परंतु विचित्र रूप से, ये चीज़ें आपको भीड़ से अलग करने का दावा करती हैं और आपको सबसे अलग बनाती हैं।

लड़कियों में अक्सर यह प्रवृत्ति होती है कि जब उनका दिल टूट जाता है या वो किसी से प्यार करने लगती हैं या वो किसी के साथ फ़्लर्ट करती हैं या जब वो अपनी ही धुन में खोई रहती हैं, तो वो अपने बालों के साथ कुछ प्रायोगिक करके देखती हैं। आप उन्हें किसी को आकर्षित करने के लिए अपनी आँखों के सामने बालोँ के छल्ले बनाते हुए या धीरे से अपने बालों में अंगुलियाँ फिराते हुए देख सकते हैं। आप उन्हें यूँ ही अपने बालों को स्पर्श करते हुए देख सकते हैं, इसका अर्थ है कि उन्हें अपने बालों से बेहद प्यार है। लंबे बालों वाली लडकियों को अक्सर अपने बालों से खेलते हुए या अनजाने में अपने दो-मुँहेँ बालों को तोड़ते हुए देखा जा सकता है, भले ही उन्हें ऐसा करते हुए कोई देख रहा हो। वो ऐसे अवसर को गँवाना नही चाहती, जिस तरह उनकी पसंदीदा बॉलीवुड फ़िल्म में नायक के नजर आने पर, नायिका के बाल हवा में उड़ने लगते हैं; जो एक परफेक्ट पिक्चर पोज़ भी है। छोटे बालों वाली लड़कियों के मामले में भी ऐसा ही है, अधिकांशतः वो अपने बालों को खुला रखना चाहती हैं, लेकिन काम से लौटने, बाइक राइड के बाद या खुली हवा में जाने के बाद, वो उलझे हुए और आपस में चिपके बालों की शिकायत करती हैं। लड़कियाँ अपने बालोँ में सजावटी सामान और एक्सेसरीज लगाना भी पसंद करती हैं, चाहे वो छन-छन करने वाली चीज़ हो, झिलिमिल करने वाली चीज़ हो या मल्टी-कलर। वो अपने बालों को अलग दिखाने के लिए एक्सटेंशन्स (लटों) का प्रयोग भी करती हैं और कलर जैसी चीज़ के साथ प्रयोग करने से भी नही चूकती, वो अपने दिन के अनुसार, अपनी लटों के स्टाइल को चुनती हैं।

अगर हम हेयर-कलर की बात करें टी इसकी वैरायटी और ट्रायल्स का कोई अंत नही है! कुछ लड़कियाँ मौसम के हिसाब से अपने बालों का रंग बदलती हैं – सर्दियों में, गरम रंगों जैसे बरगंडी, रेड, ब्राउन आदि का चयन करती हैं और दूसरे मौसम में एशन और शैम्पेन कलर का – यह उस मौसम के ऊपर भी निर्भर करता है।

अब बालों के बारे में एक ख़ास बात, अधिकांश लड़कियाँ अपने बालों के प्रति सौंदर्य और आत्मविश्वास से भरी होती हैं। जब वो हेयर-कट या स्टाइल को बदलने के लिए जाती हैं तो वो परेशान हो जाती हैं और कभी-कभी आत्मविश्वास भी खो देती हैं। उनके बाल उनकी प्राथमिकता होते हैं। वो अपनी आय में से व्यय के लिए उपलब्ध धन का अधिकांश हिस्सा अपने बालों की देखभाल और हेयर-केअर उत्पादों पर खर्च करती हैं। त्वचा के साथ-साथ, उनके बाल भी उनके सौंदर्य को परिभाषित करते हैं। वो अपने प्राकृतिक बालों को रंग करके नुकसान पहुँचा सकती हैं और इसके बाद उनकी चमक और आभा को वापस पाने के लिए, हेयर-ट्रीटमेंट पर बहुत ज्यादा खर्च कर सकती हैं। हो सकता है इसके परिणाम अच्छे हों, परंतु अपनी पसंद के बाल पाने की चाहत में अच्छा-खासा पैसा खर्च हो जाता है।

आयरनिंग, कलरिंग, कर्लिंग, हीटिंग और जो कुछ भी आप एक लड़की होने के नाते सोचती हैं, भले ही लोगों को यह विचित्र लगे, परंतु आपके लिए तो यह ताजगी और बदलाव लाने वाला है।

Tags:

This post is also available in: English

0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

© 2015-2016 An initiative by Web Empire

Log in with your credentials

Forgot your details?